Clinic Now Open Click Here

संतुलित आहार के फायदे ..

आहार क्या है ?

मनुष्य द्वारा ग्रहण किया गया हर वो खाद्य पदार्थ जिसको ग्रहण करने से शरीर को पोषण प्राप्त होता है , आहार कहलाता है। आहार मनुष्य की मूल आवश्यकता है। आहार के आभाव में व्यक्ति का जीवन संभव ही नहीं है। आहार व्यक्ति की भौतिक आवश्यकताओं के साथ- साथ सामाजिक एवं भावनात्मक आवश्यकता की भी पूर्ति करता है।

आहार के महत्व –

आहार व्यक्ति के जीवन में बहुत अधिक महत्त्व रखता है। अच्छे स्वास्थ्य और पोषण के लिए स्वस्थ आहार की आवश्यकता होती है। यह आपको कई बिमारियों से बचाता है जो आपके लिए अत्यंत हानिकारक हो सकता है। यह आपको ह्रदय रोग , मधुमेह , कैंसर जैसी खतरनाक बिमारियों से बचाने में सहायता करता है।

आहार के प्रकार :-

मनुष्य द्वारा ग्रहण करने वाले सभी खाद्य पदार्थो को आहार कहा जाता है। आहार को कुछ प्रकार में विभाजित किया गया

है।

जो निम्नलिखित है :-

  • अल्पाहार
  • फलाहार
  • निराहार
  • मांसाहार
  • शाकाहार
  • सर्वाहार
  • नाहार

संतुलित आहार क्या है ?

वैसे तो आहार कई प्रकार के होते हैं। परन्तु सभी आहार स्वास्थ्य के लिए लाभकारी नहीं होते हैं। शरीर को स्वस्थ रखने के लिए संतुलित आहार अर्थात एक उचित आहार की आवश्यकता होती है जो शरीर के लिए लाभकारी हो एवं स्वास्थ्य को सुधारने में भी लाभकारी हो। एक संतुलित आहार व्यक्ति के लिए शरीर में आवश्यक हॉर्मोन्स की मात्रा को निर्धारित करता है। जिसकी सहायता से व्यक्ति का प्रजनन स्वास्थ्य , यौन स्वास्थ्य एवं मानसिक स्वास्थ्य इत्यादि स्थिर रहता है। अपने खाद्य पदार्थों में से स्वास्थ्य वर्धक खाद्य पदार्थों का चयन करना तथा सही अनुपात में उसका सेवन करना आपके आहार को गुणकारी एवं संतुलित बनाने का एक तरीका है।

एक स्वस्थ और संतुलित आहार आपके शरीर की ऊर्जा को बढ़ाता है एवं विभिन्न कार्य करने की शक्ति प्रदान करता है। अच्छे स्वास्थ्य के लिए खाद्य पदार्थों का सही मात्रा में चयन करना एवं सही मात्रा में खाना आहार को गुणकारी बनाता है। एक संतुलित आहार में गुणकारी तत्वों की मात्रा निश्चित होती है। उस आहार में कार्बोहाइड्रेट की मात्रा 60-70%, प्रोटीन 10-12% और वसा 20-25% तक उपस्थित होती है।

संतुलित आहार के महत्त्व

आज के समय में अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखना अत्यंत आवश्यक है।अच्छे स्वास्थ्य एवं पोषण के लिए यह आवश्यक है की आप स्वस्थ एवं संतुलित आहार ग्रहण करें।

एक संतुलित आहार आपको विभिन्न प्रकार के रोगों जैसे ह्रदय रोग , मधुमेह और कैंसर जैसी कई बिमारियों से बचाता है।संतुलित आहार के लिए पर्याप्त रूप से कार्बोहायड्रेट , प्रोटीन एवं वसा इत्यादि जैसे स्वस्थ आहार को पर्याप्त मात्रा में ग्रहण करना आवश्यक होता है। क्योंकी संतुलित आहार शरीर को पोषण प्रदान करते है।

संतुलित आहार हमारे वजन को नियंत्रित करने के साथ – साथ सेहत को बढ़ावा देने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। संतुलित आहार शरीर में रोग प्रतिरोधक छमता बढ़ाने में भी सहायक होता है जिससे बिमारियों के होने का खतरा कम हो जाता है।

संतुलित आहार के तत्त्व :-

संतुलित आहार कुछ तत्वों के मिलने से बनता है जो शरीर की दुर्बलता को कम करने में सहायक होता है एवं शरीर की रोग प्रतिरोधक छमता को बढ़ाता है। जिससे शरीर में बिमारियों के होने का खतरा कम हो जाता है।

संतुलित आहार में पाये जाने वाले 7 तत्त्व निम्नलिखित है :-

कार्बोहाइड्रेट –

कार्बोहइड्रेट शरीर के महत्वपूर्ण घटकों में एक है। एक व्यस्क व्यक्ति को औसतन रूप से लगभग 45 – 65 % कैलोरी की आवश्यकता होती है जो कार्बोहायड्रेट के रूप में प्राप्त होता है।

शरीर के सभी अंगों ,सेल्स एवं उत्तकों को ग्लूकोस की आवश्यकता होती है। यह ग्लूकोस कार्बोहायड्रेट के रूप में प्राप्त होता है।

कार्बोहइड्रेट की पूर्ति कुछ निम्न खाद्य पदार्थों के सेवन करने से प्राप्त होता है :-

  • अनाज,
  • फल,
  • सब्जियां
  • फलियां इत्यादि।

फाइबर –

फाइबर हमारे प्रतिरोधी छमता को बढ़ाने का मुख्य तत्त्व है। यह रेशेदार खाद्य पदार्थों में पाया जाने वाला तत्त्व है। यह शरीर को ऊर्जा प्रदान करने के साथ-साथ , हमारे पाचन शक्ति को भी दुरुस्त करता है। फाइबर कब्ज़ के साथ-साथ कई बड़ी बिमारियों से भी हमारी रक्षा करता है।

फाइबर युक्त खाद्य पदार्थ निम्नलिखित है :-

  • सब्जियां – कच्चा केला ,लौकी , कद्दू , ब्रोकली इत्यादि।
  • फल – सेब , कटहल , तरबूज , अनार
  • दाल – फलिया –
  • नट्स और सीड्स इत्यादि।

विटामिन –

शरीर के विकास के लिए विटामिन्स की आवश्यकता होती है। ये विटामिन्स शरीर के विभिन्न अंगों की जरुरत को पूरा करते है जैसे – आँखों की कमज़ोरी , दांतों की मजबूती ,हड्डियों को मजबूत करना इत्यादि। विकास की जरुरत पूरा करने के लिए 13 अलग-अलग प्रकार के विटामिन्स की जरुरत पड़ती है।

कुछ विटामिन्स युक्त खाद्य पदार्थ जिनमें विटामिन पर्याप्त मात्रा में पाई जाती है , निम्नलिखित है :-

  • ताज़े फल ,
  • सब्जियां
  • अंडे
  • प्लांट बेस्ड मिल्क फूड
  • पनीर
  • संतरे का रस, खासकर फॉर्टिफाइड संतरे का रस
  • मशरुम
  • दूध इत्यादि।

आयरन –

आयरन हमारे शरीर को स्वस्थ रखने वाले महत्वपूर्ण तत्वों में से एक है। यह शरीर को सेहतमंद रखने में मदद करता है। हेल्दी डाइट अर्थात संतुलित आहार को फॉलो कर शरीर को कई समस्याओं से बचाया जा सकता हैं. भारत में महिलाओं में आयरन की कमी होना एक आम समस्या बन गई है। इसकी कमी से कई प्रकार की समस्या होने की सम्भावना होती है।

आयरन (Iron Rich Foods) की कमी से शरीर में होने वाली समस्याओं में – कमजोरी, थकान जैसी समस्यायें है साथ शरीर में खून की भी कमी हो जाती है। क्योंकि आयरन शरीर में हीमोग्लोबिन बढ़ाने का काम करता है। एवं इस हीमोग्लोबिन के साथ ही हमारे द्वारा सांस के साथ खींची गई ऑक्सीजन शरीर के सभी हिस्सों तक पहुंचता है। जिससे शरीर को ऊर्जा मिलती है।

शरीर में हो रहे आयरन की कमी को निम्न खाद्य पदार्थों की सहायता से पूरा कर सकते है। जैसे –

  • रागी
  • किशमिश
  • मसूर
  • सोयाबीन
  • करी पत्ते
  • सब्जियां
  • सोयाबीन
  • करी पत्ते
  • विटामिन सी से भरपूर फल

प्रोटीन :

प्रोटीन का सेवन , सेवन करने वालों के उम्र , वजन , लिंग इत्यादि को ध्यान में रख कर निर्धारित किया जाता है। व्यक्ति के अनुसार प्रोटीन की डाइट निर्धारित की जाती है।

प्रोटीन शरीर की वृद्धि के लिए आवश्यक तत्व है। इसके प्रभाव से आपकी बॉडी को बढ़ने उसकी छति पूर्ति करने एवं प्रभावी रूप से काम करने में सहायता मिलती है। अतः आपके डाइट में इस पोषक तत्व का होना अत्यंत आवश्यक होता है। प्रोटीन हमारे बालों के साथ- साथ हमारे स्किन , हॉर्मोन्स , एवं मसल्स के लिए भी आवश्यक होती है।

प्रोटीन शरीर को बीमारियों से लड़ने में सहायता करता है। अतः कुछ खाद्य पदार्थों का सेवन कर हम शरीर में प्रोटीन की कमी को पूरा कर सकते है।

प्रोटीन युक्त खाद्य पदार्थ निम्नलिखित है :-

  • अंडा
  • पिस्ता
  • सोया दूध
  • मूंगफल्ली
  • बादाम ग्रीक योगर्ट
  • अखरोट
  • एवोकैडो
  • ब्रोकली
  • हरी मटर
  • मीट
  • मछली
  • काजू इत्यादि।

फैट – :

फैट संतुलित आहार के तत्वों में महत्वपूर्ण है। परन्तु आवश्यकता से अधिक फैट भी शरीर के लिए हानिकारक होता है। शरीर को प्रतिदिन 25 – 35 % वसा की जरुरत पड़ती है। परन्तु संतृप्त वसा कुल फैट के 10 % से ज्यादा नहीं होना चाहिए।

वसा की जरुरत उम्र एवं लिंग के हिसाब से अलग अलग होती है। महिलाओं एवं पुरुषों में वसा की जरुरत भीं भिन्न होती है। जैसे – 40 – 59 वर्ष तक की महिलाओं में 23 % – 33 % तक वसा की जरुरत होती है जबकि इसी उम्र में पुरुषों में 13% -24 % वसा की जरुरत होती है।

वहीँ 60- 79 वर्ष तक की महिलाओं में 24% – 35% एवं पुरुषों में 13% – 24% फैट की आवश्यकता होती है। कुछ खाद्य पदार्थ ऐसे होते है जिसके सेवन से शरीर के लिए आवश्यक वसा की जरुरत पूरी हो जाती है। एवं जिनका पर्याप्त मात्रा में सेवन करना आवश्यक होता है :-

  • फैट वाली मछलियां जैसे सल्मोन , रोहू, पापलेट इत्यादि जैसी मछलियां।
  • एवोकाडो
  • फ्लैक्स सीड
  • डार्क चॉक्लेट
  • ड्राई फ्रूट्स
  • जैतून तेल
  • अंडे इत्यादि।

खनिज पदार्थ –

खनिज तत्त्व विभिन्न उपयोगी तत्वों के मेल से बना होता है। खाद्य युक्त खनिज पदार्थ में कुछ आवश्यक तत्व होते है जो शरीर के विकास के लिए एवं स्वस्थ रखने के लिए अत्यंत आवश्यक है।

जैसे – कैल्सियम , मैग्नीशियम , आयरन, फॉस्फोरस , पोटासियम , सोडियम इत्यादि। इसमें मौजूद सभी तत्व शरीर की विभिन्न आवश्यकताओं को पूरा करता है। जैसे कैल्शियम दांतों एवं हड्डियों को मजबूत करने के काम आता है।

खनिज पदार्थ युक्त भोज्य पदार्थ निम्नलिखित है:-

  • चोकर का आटा,
  • बाजरा,
  •  मक्खन,
  •  छिलके वाली दालें,
  • हरे मटर,
  • सभी सब्जियां,
  •  सभी फल,
  •  अण्डे की जर्दी,
  •  सोयाबीन,
  • सूखे फल इत्यादि।  

संतुलित आहार के फायदे :-

संतुलित आहार हमारे हसरीर को विभिन्न प्रकार से लाभ पहुंचाने का कार्य करते है। यह विभिन रोगों से लड़ने के लिए हमारे शरीर को सक्षम बनाते है। यह विभन्न बिमारियों से शरीर को बचाता है।
इसके अतिरिक्त भी इसके कई लाभ होते है जिनको निम्न प्रकार से देख सकते है :-

  • शरीर को ऊर्जा देने का कार्य करता है।
  • यह ह्रदय से सम्बंधित होने वाली बिमारियों से भी रक्षा करता है। एवं विभिन सर्जरी जैसे ओपन हार्ट सर्जरी इत्यादि से जल्दी उभरने में सहायता करता है।
  • यह कैंसर होने से रोकता है।
  • मूड को बूस्ट करने का भी कार्य करता है।
  • इसके द्वारा हड्डियों को भी मजबूती प्राप्त होती है।
  • यह वजन को बढ़ने से रोकने में भी सहायक होता है।
  • यह मस्तिष्क के रोगों से हमारी रक्षा करता है।
  • हमारे शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत बनाता है।
  • पर्याप्त नींद लेने में सहायक होता है। जिसके फल स्वरुप आप खुद को स्वस्थ महसूस करते हैं।
  • यह महिलाओं में होने वाली समस्या PCOD एवं PCOS के होने की सम्भावना को भी कम करता है।

इनके अतिरिक्त भी संतुलित आहार के कई लाभ होते है जो हमारे स्वास्थय को लाभ पहुँचाता है।

निष्कर्ष :-

उपरोक्त लेख में हमने आपको आहार एवं आहारों में संतुलित आहार के विषय में जानकारी देने की कोशिश की है। इस लेख के माध्यम से आपने यह ज्ञात किया कोई भी आहार संतुलित आहार नहीं होता बल्कि पोषक तत्वों से भरपूर और पर्याप्त मात्रा से ग्रहण किये गए आहार ही संतुलित आहार होते है।

एक संतुलित आहार आपके शरीर को विभिन्न प्रकार की बिमारियों से लड़ने में सहायता करता है। यह आपके शरीर की रोग प्रतिरोधक छमता को बढ़ाता है। एक संतुलित आहार हमारे शरीर में होने वाली विभिन्न बिमारियों जैसे – शुगर , कैंसर , BP , कोलेस्ट्रॉल इत्यादि से हमारी रक्षा करता है।

यह कई तरह के खाने के मेल से बनता है और यह खाना शाकाहारी , मांसाहारी या दोनों का मिश्रण हो सकता है। एक संतुलित आहार में विभिन्न तत्व जैसे – प्रोटीन , कार्बोहायड्रेट , विटामिन , फैट , फाइबर , कैल्शियम , आयरन एवं विभिन खनिज पदार्थ पर्याप्त मात्रा में उपस्थित होने चाहिए।